समाचार
अयोध्या की तर्ज पर मध्य प्रदेश के खरगोन में नर्मदा नदी के तट पर भी बनेगा राम मंदिर

अयोध्या में राम मंदिर की तर्ज पर एक मंदिर मध्य प्रदेश में खरगोन में नर्मदा नदी के किनारे बनाया जाएगा। मंदिर की आधारशिला बुधवार को एक समारोह में रखी गई, जिसके दौरान स्थानीय ग्रामीणों ने कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव की उपस्थिति में एक पवित्र संकल्प लिया।

खरगोन में नर्मदा नदी के तट पर महेश्वर जल विद्युत परियोजना प्रस्तावित थी। इसके चलते लेपा गाँव के लगभग 250 परिवारों को लगभग एक दशक पूर्व चार किमी दूर बसाया गया था। बाद में परियोजना निरस्त हो गई तो लेपा में रहने वाले परिवारों ने गाँव छोड़ दिया। यहाँ स्थित श्रीराम का मंदिर नर्मदा जल से डूब गया था। अब वर्षों बाद वहीं पर राम का मंदिर बनाने की योजना है।

सामाजिक कार्यकर्ता भागीरथ पटोड़े ने कहा, “लेपा गाँव में राम मंदिर बनाने का संकल्प उसी समय लिया जा रहा था, जब अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखी गई। अरुण यादव सहित कई गणमान्य लोगों ने बुधवार को भूमिपूजन किया।”

उन्होंने कहा, “नर्मदा के तट पर भूमिपूजन उसी समय हुआ, जब अयोध्या में बहुप्रतीक्षित राम लला मंदिर का शिलान्यास समारोह हुआ था। नर्मदा के पवित्र तट पर मंदिर के लिए जयपुर से भगवान राम की एक भव्य मूर्ति लाई जाएगी।”

अयोध्या में राम मंदिर की तर्ज पर तैयार किए गए लेपा गाँव में मंदिर बनाने के लिए लगभग 1 करोड़ रुपये रखे गए। उसका डिजिटल नक्शा भी तैयार हो गया है। यह अयोध्या में मंदिर के समान है। मंदिर 50 गुणा 80 वर्ग फीट के क्षेत्र में बनेगा। इसमें एक बगीचा, अतिथि कक्ष, शौचालय, खेल मैदान, बैठक कक्ष और श्रद्धालुओं के लिए विश्राम स्थल होगा।

इस मंदिर के निर्माण के लिए जल्द ही एक ट्रस्ट भी बनेगा। इसका निर्माण श्रद्धालुओं और स्थानीय लोगों की सक्रिय भागीदारी के साथ किया जाएगा।