समाचार
ऑस्ट्रेलिया और चीन के राजनयिक दक्षिण चीन सागर को लेकर ट्विटर पर भिड़ गए

चीनी और ऑस्ट्रेलियाई राजनयिकों के बीच ट्विटर पर दक्षिण चीन सागर में चीन की हरकतों को लेकर तीखी नोक-झोंक हुई। ऑस्ट्रेलिया ने अमेरिका के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि इस समुद्री क्षेत्र में चीन के किसी भी दावे को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया ने चीन के दावों को अवैध करार देकर हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में एक ज्ञापन दिया था। इस पर बीजिंग ने नाराज़गी ज़ाहिर की थी। भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फेरेल ने गुरुवार (30 जुलाई) को ट्वीट किया था कि उन्होंने भारत के विदेश मंत्री से कहा कि चीन की हरकतों से असंतुलन बढ़ेगा और यह उकसाने वाली कार्रवाई है।

ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त की टिप्पणी पर भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने शुक्रवार (31 जुलाई) को प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया था, “यह स्पष्ट है कि कौन क्षेत्र में शांति और स्थायित्व की रक्षा करता है? कौन अस्थिरता लाता है और तनाव भड़काता है।’

ओ फेरेल ने इसका जवाब देते हुए कहा, “चीन को 2016 में अंतरराष्ट्रीय अधिकरण के आदेश को मानना चाहिए, जिसमें बीजिंग के दावों को खारिज कर दिया गया था। चीन ने उस आदेश को अवैध और अबाध्यकारी करार दिया था।” ओ फेरेल की टिप्पणियों को ट्विटर पर भारतीय यूजरों से खूब समर्थन प्राप्त हुआ।