समाचार
उत्तर प्रदेश और कर्नाटक में एकत्रित हुए नमाज़ियों को हटाने पहुँची पुलिस पर हमला

जुमे की नमाज़ को लेकर शुक्रवार (3 अप्रैल) को उत्तर प्रदेश के कन्नौज और कर्नाटक के हुबली में जमकर बवाल हुआ। नमाज़ियों ने पुलिसवालों पर पत्थर बरसाए, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक के हुबली में कोरोनावायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के बावजूद जुमे की नमाज़ अता करने नमाज़ी पहुँच गए। मंतूर स्थित मस्जिद में भीड़ जुटने की सूचना पर पुलिस वहाँ पहुँची तो उन पर नमाज़ियों ने पत्थर बरसा दिए। इस घटना में चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस का कहना है कि उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में भी ऐसा ही हुआ। हाजीगंज स्थित एक घर में जुमे की नमाज के लिए नमाज़ियों की भीड़ जमा हुई थी। पुलिस की टीम उन्हें वहाँ से हटाने पहुँची थी लेकिन उन पर हमला कर दिया गया। हालात बिगड़ते देख पुलिसकर्मी वहाँ से भाग निकले।

पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र सिंह ने बताया, “एक घर में करीब 30 लोगों की भीड़ एकत्र हुई थी। जानकारी पर पुलिस कांस्टेबल पूछताछ करने पहुँचे तो उन पर हमला कर दिया गया। आस-पास के घरों से पत्थर फेंके गए। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।”

इससे पूर्व, गुरुवार को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के बन्ना देवी इलाके में इसी तरह की घटना सामने आई थी। बुधवार को सहारनपुर में भी ऐसा ही हुआ, जहाँ मस्जिद के बाहर लोगों को हटाने गई पुलिस पर हमला कर दिया गया था।