समाचार
बलूचिस्तान में फ़ौज की वर्दी वाले लोगों ने एक बस के 14 यात्रियों को मार गिराया

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में गुरूवार (18 अप्रैल) को 15 से 20 बंदूकधारियों ने एक बस के 14 यात्रियों की गोलियों से मार कर हत्या कर दी। इन यात्रियों को मारने से पहले बस नीचे उतारा गया था। प्रांत के गृह सचिव हैदर अली ने बताया कि हमलावरों ने पैरामिलिटरी फ्रंटियर कॉर्प्स की वर्दी पहनी हुई थी, अमर उजाला  ने रिपोर्ट किया।

अली के बताया “बंदूकधारियों ने मकरान तटीय राजमार्ग पर बस को रोका और 14 लोगों की हत्या कर दी”। यह बस तटीय शहर ओरमारा से कराची के बंदरगाह मेगासिटी जा रही थी। अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी भी संगठन ने नहीं ली है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार पुलिस महानिरीक्षक मोहसिन हसन बट्ट ने बताया कि इस वाहन पर 15 से 20 हमलावरों ने हमला किया है। कराची से ग्वादर के बीच पांच से छह बसों को रोका था। इस बस को दिन के साढ़े बारह से एक बजे के बीच रोका गया और इसमें से 16 लोगों के पहचान पत्र देखने के बाद उन्हें बस से बाहर निकाल दिया गया था।

बट्ट के अनुसार यह एक सुनियोजित हमला था जिसमें लोगों के पहचान पत्र देख के उन्हें बहुत ही करीब से गोली मारी गई है। इस हमले में 14 लोगों की मौत हुई है और दो लोग मौके पर भागकर लेविस ओमारा चौकी पर पहुँच गए थे।

गृह सचिव ने कहा है कि इस हमले में एक नौसेना अधिकारी और तट रक्षक का सदस्य भी मारे गए हैं। लेवीस और अन्य सुरक्षाबल घटनास्थल पर पहुँच कर मामले की जांच कर रहे हैं। इस हमले के पीछे कारणों का अभी तक पता नहीं चला है और अभी मृतकों की पहचान भी बाकी है।