समाचार
अटल पेंशन योजना के लाभार्थियों की संख्या पहुँची 1.5 करोड़, इस वर्ष का लक्ष्य पूरा

अपने ज़ोरदार प्रदर्शन के साथ अटल पेंशन योजना (एपीवाय) के तहत भारतीय पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) ने साल 2019-20 में अटल पेंशन योजना के तहत 75 लाख से ज़्यादा लाभार्थियों को जोड़ने का लक्ष्य रखा है, बिज़नेस लाइन  ने रिपोर्ट किया।

पीएफआरडीए के एक अधिकारी सुप्रतिम बंद्योपध्याय ने बताया कि “हमने अगले वित्त वर्ष के अंत तक दो करोड़ 25 लाख लाभार्थियों को एपीवाय के साथ जोड़ने का लक्ष्य रखा है, हमने इस वित्तीय वर्ष तक 1.5 करोड़ लाभार्थियों को जोड़ने का लक्ष्य रखा था जो हमने पूरा कर लिया है”।

ऐसा बताया जा रहा है कि अटल पेंशन योजना के तहत पिछले साल (2018) मार्च तक 97 लाख लाभार्थी जुड़ चुके थे और पीएफआरडीए ने इस साल अभी तक 53 लाख नए लाभार्थियों को इस योजना के साथ जोड़ा है।

अटल पेंशन योजना 

अटल पेंशन योजना को 2015 में 1 जून से शुरू किया गया था, जो कि 18 साल से लेकर 40 साल तक के भारतीय नागरिकों के लिए उपलब्ध है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को 60 वर्ष के बाद एक हज़ार रुपये से पांच हज़ार रुपये तक कि राशि प्रति माह दी  जाती है।

बंद्योपध्याय ने आगे बताया कि आगे कहा कि विभाग ने सरकार से आग्रह किया है कि अटल पेंशन योजना के तहत मिलने वाली पांच हज़ार रुपये की राशि को बढ़कर 10 हज़ार कर दिया जाए क्योंकि आज से 20-30 साल के बाद लाभार्थियों के लिए पांच हज़ार रुपये की राशि बहुत कम पड़ेगी और साथ ही सरकार से यह भी आग्रह किया  है कि वह इस योजना के लिए  लाभार्थियों की आयु सीमा को बढ़ाकर 40 से 50 साल तक की कर दी जाए।