समाचार
असम में नागरिकता संशोधन विधेयक पर विरोध से उड़ानें, ट्रेनें रद्द, अर्धसैनिक बल तैनात

नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 पर असम में व्यापक हिंसा हुई जिसके बाद गुरुवार (12 दिसंबर) को असम में कई उड़ानें और ट्रेनें रद्द कर दी गईं हैं।

साथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोक दिया गया। भारतीय रेलवे के निदेशक (मीडिया) आरडी वाजपेयी के अनुसार लंबी दूरी की कोई भी ट्रेन गुवाहाटी से आगे नहीं जा रही है।

आरडी वाजपेयी ने कहा, “इन सभी ट्रेनों की यात्रा को गुवाहाटी में ही समाप्त किया जा रहा है और ये ट्रेनें गुवाहाटी से अपनी वापसी यात्रा के लिए अपने निर्धारित समय से ही शुरू होंगी।”

वाजपेयी ने आगे कहा, “पूर्वोत्तर सीमांत जिन ट्रेनों को वापस नहीं किया जा सकता, ऐसी सभी ट्रेनें दिल्ली और अन्य स्थानों में ही रद्द कर दी जाएँगी और ऐसी ट्रेनों के नाम संबंधित रेलवे द्वारा अधिसूचित किए जाएँगे। उत्तरी रेलवे ने 15, 16 और 17 दिसंबर को यात्रा शुरू करने वाली तीन ऐसी ट्रेनों को रद्द कर दिया है।”

बुधवार को पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया कि अब तक 30 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया गया या अल्पावधि में समाप्त कर दिया गया।

वहीं इस क्षेत्र में उड़ानों को भी रद्द किया गया। इंडिगो ने ट्विटर पर जानकारी दी कि असम में जारी हिंसा के चलते डिब्रूगढ़ जाने वाली सभी उड़ाने रद्द हैं।

स्पाइसजेट, विस्तारा और गोएयर ने सरकार की सलाह पर  गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के लिए अपनी सभी उड़ानों को 13 दिसंबर तक रद्द कर दिया है।

बुधवार को असम में हुए प्रदर्शन में छात्र शामिल थे जिन्होंने राज्य के अलग-अलग हिस्सों में सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। विशेषकर गुवाहाटी में राज्य सरकार ने कानून और व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से अनिश्चितकालीन कर्फ्यू घोषित किया है।

प्रशासन ने राज्य के 10 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा को निलंबित कर दिया है और अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है।