समाचार
अफस्पा के तहत असम सरकार ने और 6 माह के लिए राज्य को अशांत क्षेत्र घोषित किया

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की अगुआई वाली असम सरकार ने मंगलवार (25 अगस्त) को सशस्त्र बल (विशेषाधिकार) अधिनियम, 1958 (अफस्पा) के प्रावधानों के तहत पूरे राज्य को और छह महीने के लिए अशांत क्षेत्र घोषित कर दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पूरे राज्य को 28 अगस्त से आगामी छह महीनों के लिए अशांत क्षेत्र घोषित किया गया है। इस दौरान राज्य में अफस्पा के प्रावधान जारी रहेंगे। अधिसूचना में कहा गया है कि पूर्वोत्तर राज्यों में सुरक्षा बलों पर हाल ही में विद्रोही हमलों और असम के विभिन्न क्षेत्रों से अवैध हथियारों और गोला-बारूद की बरामदगी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है।

बीते दिनों अफस्पा मार्च में घोषित किया गया था। उस वक्त राज्य सरकार ने तर्क दिया था कि इसे लागू करने की आवश्यकता है क्योंकि सशस्त्र संगठन नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 का विरोध कर रहे युवाओं को अपने साथ शामिल होने का लालच दे रहे हैं।

अफस्पा पहली बार 1990 में केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा असम में लगाया गया था। बाद में 2017 में केंद्र ने उत्तर-पूर्वी राज्य में इसके और विस्तार पर निर्णय लेने के लिए अपनी शक्ति राज्य सरकार को हस्तांतरित कर दी थी।