समाचार
भारतीय सेना कर रही आम नागरिकों को तीन वर्ष के लिए ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ देने पर विचार

भारतीय सेना तीन वर्ष के ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ के लिए आम नागरिकों को अपनी संस्था में शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है।

न्यूज-18 की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय सेना के विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी मिली है कि इस प्रस्ताव पर चर्चा की जा रही है। इसके तहत आम नागरिकों को देश की सेवा करने के लिए तीन वर्ष की टूर ऑफ ड्यूटी की अनुमति दी जाएगी।”

सेना के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की है। यह प्रस्ताव देश की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा को अपनी ओर आकर्षित करने के भारतीय सेना के प्रयासों का हिस्सा है। वर्तमान में लघु सेवा आयोग के जरिए सेना में शामिल होने वालों को कम से कम 10 वर्ष की नौकरी करनी होती है। सेना में इससे कम अवधि की नौकरी का प्रावधान नहीं है।

सूत्रों ने बताया कि सेना के शीर्ष अधिकारी लघु सेवा आयोग के प्रावधानों की समीक्षा कर रहे हैं, ताकि इसे युवाओं के लिए अधिक आकर्षक बनाया जा सके। भारतीय सेना कई वर्षों से अधिकारियों की कमी का सामना कर रही है। लघु सेवा आयोग को पहले पाँच साल की न्यूनतम सेवा किया गया था लेकिन इसे और अधिक आकर्षक बनाने के लिए इसे 10 वर्ष तक बढ़ा दिया गया था।