समाचार
थलसेना प्रमुख ने चीनी सैनिकों से लड़ने वाले जवानों को दिया प्रशंसा-पत्र, बढ़ाया हौसला

दो-दिवसीय दौरे के दूसरे दिन लद्दाख पहुँचे थलसेना प्रमुख मनोज मुंकुंद नरवाणे ने गलवान घाटी में तैनात जवानों से हर स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा। साथ ही पूर्वी लद्दाख सेक्टर में चीनी सैनिकों से लड़ने वाले जवानों को प्रशंसा-पत्र भी दिया।

दैनिक जागरण के अनुसार, नरवाणे ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने जवानों का मनोबल बढ़ाते हुए दुश्मन के सामने डटकर खड़े रहने को कहा। थलसेना प्रमुख मंगलवार (24 जून) को लेह में रहे जहाँ उन्होंने अस्पताल में भर्ती घायल सैनिकों से भेंट भी की।

ज़मीनी स्तर के कमांडरों से चर्चा के अलावा थलसेना प्रमुख अग्रिम मोर्चों का दौरा भी करेंगे। गलवान घाटी की घटना के बाद वे पहली बार लद्दाख गए हैं। इससे पहले वायुसेना प्रमुख भदौरिया ने भी दो-दिवसीय दौरा किया था।