समाचार
सऊदी तेल विक्रेता अरामको ऐप्पल को पछाड़कर बनी सबसे मूल्यवान सार्वजनिक कंपनी

गुरुवार (6 दिसंबर) को सऊदी अरब की विशाल तेल विक्रेता अरामको ने अपनी प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) की जिसका बाज़ार में 1.7 खरब डॉलर मूल्यांकन है। इस प्रकार यह 1.17 अरब डॉलर वाली ऐप्पल से आगे निकल गई है, ईएफे न्यूज़  ने रिपोर्ट किया।

इससे कंपनी कम से कम 25.6 अरब डॉलर की रिकॉर्ड राशि प्राप्त कर सकती है। कंपनी ने 32 सऊदी रियाल (प्रति शेयर 8.53 डॉलर) की कीमत पर 3 अरब शेयर यानी अपने कुल शेयरों का 1.5 प्रतिशत बेचने की योजना बनाई है।

अरामको के शेयरों का व्यापार अगले सप्ताह से शुरू होने की उम्मीद है किंतु रियाद के शेयर बाजार द्वारा इसकी घोषणा अभी लंबित है। पहले कहा गया था कि यूनाइटेड स्टेट्स, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और जापान में शेयर नहीं बेचे जाएँगे।

सऊदी अरब ने निवेश के निर्णय के विपरीत एकजुटता और सद्भावना के संकेत के रूप में शेयरों की खरीद के लिए अमीर सऊदी नागरिकों और क्षेत्रीय सहयोगियों से प्रतिबद्धता दिखाने की उम्मीद की है।

इस बीच सऊदी के बैंकों को निर्देश दिया गया था कि अरामको के शेयरों को खरीदने के इच्छुक निवेशकों के लिए ऋण की सीमा को दोगुना किया जाए।

1 से 1 के ऋण के लिए औसत उत्तोलन-अनुपात सीमा की तुलना में, बैंकों को अरमको में निवेश के उद्देश्य के लिए खुदरा ग्राहकों को 2 से 1 के अनुपात में ऋण देने की अनुमति दी गई थी।

कंपनी खुदरा निवेशकों को उपलब्ध शेयरों का 33.3 प्रतिशत (अरामको के कुल शेयरों का 0.5 प्रतिशत) की पेशकश करेगी, जबकि शेष 66.7 प्रतिशत संस्थागत निवेशकों के लिए आवंटित किए गए हैं।

प्रक्रिया के करीबी सूत्रों के मुताबिक, आईपीओ 4.65 गुना अतिदत्त हुआ था जिसकी कुल बोली 119 अरब डॉलर थी। अरामको ने 2018 में 111.1 अरब डॉलर और 2019 की पहली छमाही में 46.9 अरब डॉलर की शुद्ध आय दर्ज की है।