समाचार
वित्तीय घोटाले ने फिर घेरा वेटिकन को, कैथोलिकों के दान से लंदन में आलिशान अपार्टमेंट

वेटिकन कथित तौर पर जाँच कर रहा है कि कैसे स्विस बैंक खातों से इसके द्वारा जमा की गई 20 करोड़ डॉलर की राशि से लंदन के चेलसा जिले में एक आलिशान संपत्ति का निर्माण किया गया। साथ ही इसमें एक कंपनी ने बड़ा मुनाफा कमाया, जिसने होली सी के लिए निवेश का प्रबंध किया था।

फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, स्विस बैंक खातों में 20 करोड़ डॉलर की राशि को राज्य सचिवालय द्वारा नियंत्रित किया गया था। उसे एथेना कैपिटल नामक लक्ज़मबर्ग निवेश कोष में स्थानांतरित किया गया था। 60 स्लोन एवेन्यू में 49 आलिशान अपार्टमेंट के निर्माण के लिए धनराशि को परियोजना में लगाया गया था। वेटिकन को 2014 के बाद से इस परियोजना में लगे हुए बताया जाता है।

कैथोलिक चर्च की नौकरशाही के केंद्रीय पोप के रूप में राज्य का सचिवालय कार्य करता है। यह होली सी के राजनीतिक और राजनयिक कार्यों के लिए जिम्मेदार है। यह दुनिया भर में कैथोलिकों द्वारा दिए गए दान का प्रबंध करता है।

इसी माह वेटिकन पुलिस ने होली सी के राज्य के सचिवालय और उसके वित्तीय सूचना प्राधिकरण के कार्यालयों पर छापा मारा। कार्रवाई में दस्तावेजों और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को जब्त किया गया।

छापे के बाद वेटिकन के वित्तीय सूचना प्राधिकरण (एआईएफ) के एक शीर्ष अधिकारी और एक महापौर सहित पाँच वेटिकन कर्मचारियों को निलंबित किया गया। स्विस वकील रेने ब्रुएलहार्ट की अध्यक्षता वाला एआईएफ वित्तीय नियंत्रक है, जिसके पास सभी वेटिकन विभागों के अधिकार हैं।

एफटी की रिपोर्ट के अनुसार, एथेना कैपिटल के साथ होली सी के निवेश को व्यक्तिगत रूप से कार्डिनल जियोवानी एंजेलो बेसिकू द्वारा अधिकृत किया गया। इनके बारे में कहा जाता है कि वे वेटिकन के अंदर लंदन स्थित फाइनेंसर से मिले थे। कार्डिनल बीस्क्यू उस समय राज्य सचिव के प्रशासनिक कर्तव्यों के प्रभारी थे और पोप को सूचना देते थे।