समाचार
दूसरा प्रत्यर्पण? इंटरपोल ने मेहुल चोकसी को जारी किया रेड कॉर्नर नोटिस

13 दिसंबर 2018 को इंटरपोल ने कारोबारी मेहुल चोकसी के ख़िलाफ़ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है, टाइम्स ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट में बताया गया। चोकसी के ऊपर पंजाब नेशनल बैंक से 14,000 हज़ार करोड़ रुपए की धोखादड़ी का आरोप है।

रेड कॉर्नर नोटिस एक अंतर्राष्ट्रीय गिरफ्तारी वॉरंट है जो कि इंटरपोल द्वारा सदस्य देशों को जारी किया जाता है। सदस्य देशों से अपेक्षा होती है कि वे उस व्यक्ति को हिरासत में लें या नज़रबंद करें जिसका नाम रेड कॉर्नर नोटिस में दिया गया होता है।

पीएनबी धोखादड़ी के मामले में प्रवर्तन निदेशालय चोकसी के भांजे नीरव मोदी, उनकी बहन पूर्वी मोदी तथा उनके भाई नीशाल मोदी की तलाश कर रहा है।
चोकसी को एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता मिली हुई है वहीं पूर्वी मोदी को बेल्जियम की नागरिकता मिली हुई है।

गौरतलब है कि चोकसी ने कुछ पीएनबी कर्मचारियों की मदद से स्वीकृति पत्रों (एलओयू) तथा विदेशी ऋण पत्रों का दुरुपयोग कर घोटाला किया। एलओयू एक प्रकार का आश्वासन है जो कि एक भारतीय बैंक द्वारा भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं को दिया जाता है। वहीं नीरव मोदी ने 6000 करोड़ रुपए की धोखादड़ी की है।

उल्लेखनीय है कि अगस्त माह में भारत ने एंटिगुआ और बारबुडा की सरकार को औपचारिक रूप से प्रत्यर्पण पत्र दिया था।