समाचार
अनाज मंडी अग्निकांड- कारखाना मालिक रेहान व मैनेजर फुरकान 14 दिन की हिरासत में

दिल्ली की अनाज मंडी में हुए अग्निकांड में 43 लोगों के मारे जाने के मामले को लेकर दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को कारखाना मालिक मोहम्मद रेहान और मैनेजर फुकरान को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

रेहान को पुलिस ने रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार किया, जब वह शहर से भागने की फिराक में था। रेहान पर आईपीसी की धारा 304 और 285 के तहत मामला दर्ज किया गया। फुकरान, रेहान का बचपन का दोस्त था। वे 2003 से साथ काम कर रहे हैं। फुकरान को दिल्ली में उसके ससुराल से गिरफ्तार किया गया।

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, रेहान ने 2008 में अवैध रूप से दो मंजिला इमारत बनवाई थी और प्रत्येक मंजिल और व्यक्तिगत कमरों को 13 लोगों को किराए पर दिया था। वह प्रत्येक किरायेदार से 8,000 से 10,000 रुपये प्रति माह का शुल्क लेते थे, जिनमें से तीन की अग्निकांड में मौत हो गई। रिहायशी इलाके में स्थित मकान आवासीय था लेकिन उसमें अवैध रूप से कई कारखानों की इकाइयों को कमरे के अंदर से संचालित किया जा रहा था।

उन्होंने कहा, “पुलिस इमारत की 3 डी मैपिंग कर रही है, ताकि वह रात के मंजर को जान सके और धमाके के पीछे की वजह का पता लगा सके।” हालाँकि, रेहान ने दावा किया कि नाबालिगों को उनके यहाँ काम नहीं दिया गया, जबकि मृतकों में से कम से कम 5 नाबालिग थे।

पूछताछ में रेहान ने खुलासा किया कि उसके दो भाई और दो सौतेले भाई हैं। उन्होंने और उनके भाइयों ने आग पकड़ने वाली इमारत का सह-स्वामित्व लिया है। उन्होंने इसे 2004 में खरीदा था और अवैध रूप से बिना लिंटेल के शीर्ष दो मंजिलों का निर्माण किया था। रेहान ने आरोप लगाया कि उसने अवैध निर्माण नागरिक निकाय के स्थानीय इंजीनियरों और स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से किया था।