समाचार
पशुपालन में निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन, औषधीय पौधों की खेती के लिए 4,000 करोड़ रुपये

पशुपालन इंफ्रास्ट्रक्चर विकास के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार (15 मई) को 15,000 करोड़ रुपये की घोषणा की। इसमें दुग्ध प्रसंस्करण, मूल्य संवर्धन और चारे इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए निजी क्षेत्र की भागीदारी को भी प्रोत्साहित किया जाएगा।

औषधीय पौधों की खेती का विस्तार अगले दो वर्षों में 10 लाख हेक्टेयर के क्षेत्रफल में किया जाएगा जिसके लिए 4,000 करोड़ रुपये का प्रावधान है। इससे किसानों की कुल 5,000 करोड़ रुपये की आय होगी। गंगा के तट पर 800 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में औषधीय पौधों का एक गलियारा भी विकसित किया जाएगा।

मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान है जिससे 2 लाख लोगों की आय में बढ़ोतरी होगी। साथ ही उपभोक्ताओं को भी बेहतर गुणवत्ता की शहद मिल सकेगी।