समाचार
आंध्र प्रदेश के 500 वर्ष पुराने मंदिर में पुजारी समेत 3 बुजुर्गों की गला रेतकर हत्या

आंध्र प्रदेश में 15वीं सदी के एक प्राचीन शिव मंदिर के पुजारी समेत तीन संरक्षकों की सोमवार तड़के मंदिर परिसर के भीतर हत्या कर दी गई। द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, उनके शव सुबह गाँववालों ने खोजे, जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचित किया।

कहा जा रहा है कि खजाने के लालच या फिर मानव बलि की आशंका के चलते उनकी हत्या कर दी गई। मरने वालों की पहचान 70 वर्षीय एस शिवरामरेड्डी, उसकी बड़ी बहन कदापाला कमलम्मा और 70 वर्षीय सत्य लक्ष्मीम्मा के रूप में हुई। ये अनंतपुर जिले के कोरदिकोटा गाँव में स्थित मंदिर परिसर में रहते थे।

शिवरामरेड्डी मंदिर के पुजारी थे और मदनपल्ली में रहने वाली पत्नी और तीन बच्चों का पालन पोषण करते थे। माना जा रहा है कि अज्ञात हमलावरों ने आधी रात मंदिर में प्रवेश किया और तीनों की गला रेतकर हत्या कर दी।

स्थानीय लोगों का मानना ​​है कि हमलावरों ने मंदिर में खजाने की खोज के लिए प्रवेश किया था। रिपोर्ट में मानव बलि की आशंका के भी संकेत दिए गए हैं। कादिरी ग्रामीण सर्किल इंस्पेक्टर टी मधु ने कहा, “वर्तमान में मंदिर का नवीनीकरण किया जा रहा था और हत्या में 4-5 लोग शामिल हो सकते हैं। जाँच जारी है। अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।