समाचार
आंध्र प्रदेश- तीन राजधानियों वाला विधेयक विधानसभा में पास, परिषद में है मुश्किल

आंध्र प्रदेश में तीन राजधानियों वाला विधेयक सोमवार को विधानसभा में पारित हो गया। इसको अब विधान परिषद में पेश किया जाएगा। हालाँकि, अब इसे पारित करने में थोड़ी दिक्कत आ सकती है क्योंकि सत्ताधारी वाईएसआर कांग्रेस वहाँ बहुमत में नहीं है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, विधेयक के तहत अमरावती प्रदेश की विधायी राजधानी होगी, जबकि विशाखापत्तनम कार्यकारी और कुर्नूल न्यायिक राजधानी होगी। सत्ताधारी पार्टी के पास 58 सदस्यों वाली विधान परिषद में कुल 9 विधायक ही हैं।

इससे पूर्व, प्रस्ताव के पेश होने के दौरान विधानसभा में हंगामा करने पर तेलुगु देशम पार्टी के 17 विधायकों को एक दिन के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने निलंबित कर दिया था। ये विधायक मुख्यमंत्री के भाषण को बाधित करने की कोशिश कर रहे थे।

मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने सदन में कहा, “हम राजधानी को बदल नहीं रहे हैं। हम सिर्फ दो और नई राजधानी जोड़ रहे हैं। अमरावती पहले जैसी ही रहेगी। हम किसी भी क्षेत्र के साथ अन्याय नहीं करेंगे।”

उन्होंने आगे कहा, “विकेंद्रीकरण पर ध्यान केंद्रित करके हमारी सरकार ऐतिहासिक भूलों और गलतियों को सुधार रही है। मैं लोगों को सिर्फ आँकड़े दिखा करके बेवकूफ नहीं बना सकता हूँ।”