समाचार
एएमयू में ओवैसी के आने के बाद ‘भारत मुर्दाबाद’ के नारे, राज-द्रोह का मामला दर्ज

उत्तर प्रदेश पुलिस ने बुधवार (13 फरवरी) को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के 14 छात्रों पर संस्थान परिसर में राष्ट्र-विरोधी नारे लगाने पर राज-द्रोह व भारतीय दंड संहिता के अन्य प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है, इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

मंगलवार को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के कैम्पस आने पर प्रदर्शन के लिए पहली एफआईआर दर्ज की गई। कुछ छात्रों ने रिपब्लिक टीवी  के कैमरामैन व रिपोर्टर के साथ झगड़ा भी किया।

रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने यह भी बताया कि छात्रों ने भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं से कैम्पस के बाहर हाथापाई भी की परंतु इससे संबंधित कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। एएमयू के छात्रों हुधवार को ने संस्थान में प्रदर्शन कर भाजयुमो के कार्यकर्ताओं व उनके समर्थकों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की।

“विश्वविद्यालय के पास से गुज़रते हुए मैंने दो छात्र गुटों को किसी बात पर झगड़ा करते हुए देखा। जैसे ही मैंने अपनी गाड़ी रोकी, कुछ छात्रों ने खींचकर मुझे गाड़ी से बाहर निकाला। जब माने विरोध किया तो उन्होंने पिटाई की और गोली चलाई लेकिन किसी को चोट नही आई। हमलावरों ने ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ और ‘भारत मुर्दाबाद’ के नारे भी लगाए। हम किसी तरह वहाँ से बाग निकले और पुलिस थाने पहुँचे।”, भाजयुमो के जिला अध्यक्ष मुकेश लोधी ने कहा।

रिपोर्ट के अनुसार मुकेश की शिकायत पर 14 छात्रों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गई जिसमें एएमयू छात्र संघ के उपाध्यक्ष हुमज़ा सुफियान, पूर्व संघ अध्यक्ष मस्कूर अहमद उस्मानी और पूर्व सचिव मोहम्मद फहाद भी सम्मिलित हैं। इनपर धारा 124-ए (राज-द्रोह), धारा 153-ए, 307, 147 और 153-बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।