समाचार
एफसीआरए उल्लंघन- एमनेस्टी इंटरनेशनल के दिल्ली और बेंगलुरु कार्यालयों पर छापा

केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम (एफसीआरए) के मानदंडों के उल्लंघन के संबंध में नई दिल्ली और बेंगलुरु में अंतर-राष्ट्रीय मानवाधिकार के लिए काम करने वाली संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल के कार्यालयों पर छापा मारा।

न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार, सीबीआई ने बेंगलुरु कार्यालय में सुबह करीब 8.30 बजे छानबीन शुरू की, जो शाम 5 बजे तक जारी रही। स्व-घोषित अंतर-राष्ट्रीय मानवाधिकार एनजीओ ने छापे के मद्देनजर कई बयान जारी किए।

उसने कहा, “एमनेस्टी इंडिया भारतीय और अंतर-राष्ट्रीय कानून के पूरी तरह अनुपालन में खड़ा है। भारत में हमारा काम अन्य जगहों पर सार्वभौमिक मानवाधिकारों को बनाए रखने और लड़ने के लिए है। ये वही मूल्य हैं, जो भारतीय संविधान में निहित हैं और बहुवाद, सहिष्णुता और असंतोष की एक लंबी और समृद्ध भारतीय परंपरा से प्रवाहित होते हैं।”

हालाँकि, संगठन वर्षों से भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के रेडार पर रहा है। सरकार ने ऐसे एनजीओ के खिलाफ कार्रवाई की है, जो मानदंडों के उल्लंघन में पाए गए हैं।

एफसीआरए और विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) दिशा-निर्देशों के संदिग्ध उल्लंघनों के लिए प्रवर्तन निदेशालय ने गत वर्ष एमनेस्टी इंटरनेशनल के बेंगलुरु कार्यालय पर भी छापा मारा था।