समाचार
गृह मंत्री का ज़रूरी चीजों के भंडारण का भरोसा, खुदरा मुद्रास्फीति गिरकर 5.91% पहुँची

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को सभी को भरोसा दिलाया कि देश में अन्न, दवाओं और अन्य आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार है। लॉकडाउन की अवधि बढ़ने पर किसी को भी चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अमित शाह ने कई ट्वीट करके संपन्न लोगों से अपने आसपास रहने वाले जरूरतमंदों की सहायता करने की गुज़ारिश की है।

उन्होंने ट्वीट किया, “गृह मंत्री होने के नाते मैं जनता को फिर से भरोसा दिलाता हूं कि देश में अन्न, दवाई और अन्य रोजमर्रा की चीजों का पर्याप्त भंडार है इसलिए किसी को भी परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। साथ ही संपन्न लोगों से आग्रह करता हूँ कि वे आगे आकर आसपास के गरीबों की सहायता करें।”

गृह मंत्री ने कहा, “अब हमें समन्वय को और अधिक मजबूत करना है, जिससे सभी लोग लॉकडाउन का अच्छी तरह से पालन करें और किसी को भी ज़रूरत की चीजों की समस्या न हो। उन्होंने चिकित्सकों, सफाईकर्मियों, पुलिस और सभी सुरक्षाकर्मियों की तहे दिल से सराहना की।

उधर, खाद्य कीमतों में गिरावट की वजह से मार्च में भारत की खुदरा मुद्रास्फीति फरवरी के 6.58 प्रतिशत से गिरकर 5.91 प्रतिशत पर आ गई है। हालाँकि, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) या खुदरा मुद्रास्फीति पिछले वर्ष के इसी महीने में 2.86 प्रतिशत थी।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय की ओर से जारी किए गए आँकड़ों से मालूम पड़ता है कि भले उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक ऊँचे स्तर पर रहा हो लेकिन मार्च में इसकी वृद्धि दर 8.76 प्रतिशत धीमी रही। फरवरी 2020 में इसे 10.81 प्रतिशत दर्ज किया गया था।