समाचार
अमित शाह- “जहाँ रविंद्र संगीत गूँजता था, वो बंगाल अब बम धमाकों से दहल रहा है”

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार (9 जून) को पश्चिम बंगाल के लिए डिजिटल रैली की। उन्होंने ममता बनर्जी सरकार को निशाने पर रखते हुए कहा, “नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से डरकर यहाँ आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि जैसी योजनाओं को लागू नहीं होने दिया गया।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अमित शाह ने अम्फान तूफान और कोरोनावायरस महामारी को लेकर ममता सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “जिस बंगाल में कभी रवींद्र संगीत की गूँज होती थी, वह अब बम धमाकों से दहल रहा है।”

गृह मंत्री ने कहा, “भाजपा के मुख्यमंत्री के शपथ लेने के एक मिनट बाद ही यहाँ आयुष्मान भारत योजना लागू हो जाएगी। मोदी सरकार ने करोड़ों शरणार्थियों को सम्मान देने का वादा पूरा किया। ममता बनर्जी को बताना चाहिए कि वह सीएए का क्यों विरोध कर रही हैं। ममता जी जब मत पेटियाँ खुलेंगी तो जनता आपको राजनीतिक शरणार्थी बना देगी।”

उन्होंने कहा, “बंगाल देश का नेतृत्व करता था। कहा जाता था कि बंगाल जो सोचता है, देश 50 वर्ष बाद वो सोचता है पर आज उसे क्या हो गया। जहाँ रविंद्र संगीत सुनाई देता था, वो अब बम धमाकों से दहल रहा है। पहले कम्युनिस्ट पार्टी और अब तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल को गरीबी में धकेला है।”

आखिरी में अमित शाह ने कहा, “ममता दीदी आप हिंसा का कीचड़ जितना फैलाएँगी, उतना कमल पवित्र होगा। हम हिंसा से डरने वाले नहीं हैं। बलिदान मेरी पार्टी का इतिहास है। पार्टी के पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष बंगाल के सपूत श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर में बलिदान देकर यह संस्कार हमें दिया है।”