समाचार
अमेठी-सुलतानपुर रेलमार्ग जोड़कर राजीव गांधी का सपना पूरा करेंगी स्मृति ईरानी

अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी अब पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का सपना पूरा करेंगी। उन्होंने अमेठी-सुलतानपुर रेलमार्ग को जोड़ने का बीड़ा उठाया है। प्रॉजेक्ट के लिए 133.36 हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी। इसके अधिग्रहण का काम जल्दी शुरू किया जाएगा।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, रेलमंत्री पीयूष गोयल से स्मृति ईरानी ने पिछले दिनों मुलाकात की थी। इसके बाद वर्षों से लंबित इस प्रॉजेक्ट पर काम शुरू हो गया। 34.36 किलोमीटर लंबे बनने वाले रेलपथ के बीच 37 गाँव आएँगे। इसके लिए सर्वे का काम पूरा हो चुका है।

प्रोजेक्ट की कार्ययोजना के मुताबिक, सुलतानपुर के दिखौली, धम्मौर और अमेठी के पिंडोरिया में रेलवे स्टेशन बनाए जाएँगे। इससे रायबरेली, बाराबंकी और अयोध्या जिले आपस में रेल सेवा से जुड़ जाएँगे।

मालूम हो कि अमेठी से सुलतानपुर और अठेहा, सलोन होते हुए रायबरेली के लिए विशेष रेल रूट तैयार करने की योजना की गई है। साल 2013 में बतौर सांसद राहुल गांधी ने इस नए रेलपथ की बुनियाद भी रखी लेकिन काम शुरू नहीं हो सका।