समाचार
“केंद्र की किसानों को सीधे भुगतान की योजना विरोध को अधिक बढ़ाएगी”- अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा, “फसल खरीद के लिए किसानों को सीधे भुगतान करने के केंद्र सरकार के कदम से कृषि कानूनों के खिलाफ मौजूदा विरोध और अधिक बढ़ेगा।”

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार के कदम को और उकसावे वाला बताते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा कि एफसीआई से किसानों को ई-भुगतान के द्वारा सीधी अदायगी के लिए भूमि रिकॉर्ड मांगने से स्थिति और खराब होती जाएगी।

उन्होंने कहा, “पंजाब में 1967 के बाद से एक जाँची-परखी व्यवस्था चल रही थी, जिसमें किसानों को आढ़तियों के जरिए भुगतान किया जाता था। उनके साथ उनके अच्छे संबंध होते हैं और विपत्ति के समय में वे उन पर वित्तीय मदद के लिए निर्भर हो सकते हैं।”

मुख्यमंत्री ने पूछा, “किसान संकट के समय में बड़े कॉरपोरेट घरानों पर कैसे भरोसा कर सकते हैं।” उन्होंने कृषि कानूनों को लेकर कहा, “केंद्र सरकार एक उदासीन रवैया दिखा रही, जो स्थिति को हल करने में मदद नहीं करेगा। वह स्थिति को संभालने की बजाए उसमें ईंधन भरकर उसे और उकसा रही है।”

अमरिंदर सिंह ने यह भी कहा कि राज्यपाल को खेती कानूनों के खिलाफ राज्य के संशोधन बिलों के बारे में तत्काल निर्णय लेकर इसको आगे राष्ट्रपति के पास भेजना चाहिए। यदि वे स्वीकार करते हैं तो अच्छा है। यदि रद्द करते हैं तो हमारे लिए कानूनी लड़ाई लड़ने के दरवाजे खुल जाएँगे।