समाचार
पाकिस्तान का सार्क कोविड-19 आपातकालीन निधि में योगदान रहा शून्य

इमरान खान के नेतृत्व वाला पाकिस्तान दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) का एकमात्र ऐसा सदस्य राष्ट्र है, जिसने सार्क कोविड-19 आपातकालीन निधि में शून्य योगदान दिया है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके सदस्य देशों से कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एक आपात निधि का प्रस्ताव दिया था। यह दुनिया के लिए एक उदाहरण पेश करता है।

सार्क के लगभग सभी सदस्य देशों के सहयोग के बाद निधि में अब तक एक करोड़ 80 लाख डॉलर की रकम एकत्र की जा चुकी है। इसमें भारत की ओर से एक करोड़ डॉलर का योगदान शामिल है।

भारत के अलावा अफगानिस्तान ने 10 लाख डॉलर, बांग्लादेश ने 15 लाख डॉलर, भूटान ने एक लाख डॉलर, मालदीव ने दो लाख डॉलर, नेपाल ने 10 लाख डॉलर और श्रीलंका ने 50 लाख डॉलर का योगदान दिया था।

समूह के विभिन्न राष्ट्रों द्वारा किए गए योगदान को सलाम करते हुए डॉ. एस जयशंकर के नेतृत्व में केंद्रीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “यह कदम इसमें हिस्सा लेने वाले देशों में एक साथ कार्य करने के लिए दृढ़ संकल्प की गहरी साझा भावना को दर्शाता है।”