समाचार
अखिलेश यादव के लिए ‘भाजपा का टीका’ हुआ अब भारत सरकार का, खुद भी लगवाएँगे

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव पहले वैक्सीन को ‘भाजपा का टीका’ कहकर संबोधित कर रहे थे। वहीं, टीका जब उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने लगवाया तो अब उनके स्वर बदल गए हैं। उन्होंने सरकार के देशभर में मुफ्त टीकाकरण की बात कहने के बाद मंगलवार (8 जून) को वैक्सीन को भारत सरकार का बताया और उसे खुद भी लगवाने की बात कही।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, “जनाक्रोश को देखते हुए आखिरकार सरकार ने टीके के राजनीतिकरण की जगह ये घोषणा की कि वे टीके लगवाएँगे। हम ‘भाजपा के टीके’ के विरुद्ध थे पर ‘भारत सरकार के टीके’ का स्वागत करते हैं। हम टीका लगवाएँगे और जो नहीं लगा सके हैं, उनसे अपील करते हैं कि वे भी लगवाएँ।”

उनका यह बयान पिता व सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के सोमवार को स्वदेशी टीका लगवाने वाली छाया चित्र के वायरल होने के बाद आया है। इसके बाद उत्तर प्रदेश के भाजपा नेताओं की तरफ से उन पर कई कटाक्ष किए गए थे।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि सपा संरक्षक आपका स्वदेशी वैक्सीन लगवाने के लिए धन्यवाद। आपके द्वारा वैक्सीन लगवाना इस बात का प्रमाण है कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा वैक्सीन को लेकर अफवाह फैलाई गई थी। इसके लिए उनको क्षमा मांगनी चाहिए।

बता दें कि अखिलेश यादव ने पहले कहा था कि मैं कोरोना का टीका नहीं लगवाऊँगा क्योंकि यह भाजपा वालों का है। मैं इस पर विश्वास नहीं कर सकता हूँ। हालाँकि, बाद में उन्होंने भाजपा सरकार से सभी को निःशुल्क टीका लगवाने की मांग की थी। अब उन्होंने इसे भारत सरकार का टीका बताते हुए इसे खुद भी लगवाने की बात कही है।