समाचार
वायुसेना प्रमुख ने बालाकोट एयर स्ट्राइक की अहमियत बताई, बड़गाम की गलती मानी

वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार भदौरिया ने कहा, “अगर बालाकोट एयर स्ट्राइक ना की जाती तो आतंकी गतिविधियों का स्तर आज अधिक होता। एयरस्ट्राइक के बाद भी वहाँ आतंकी गतिविधियाँ जारी हैं। हम पहले हमला नहीं करते हैं। अगर पाकिस्तान उकसाएगा तो सरकार के आदेश के बाद उचित जवाब दिया जाएगा।”

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, वायुसेना प्रमुख ने कहा, “अगर पाकिस्तान की ओर से आतंकी हमला होता है तो सरकार के आदेश के बाद हम कार्रवाई करेंगे। फिलहाल अभी हमने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के लिए कोई योजना नहीं बनाई है। जरूरत पड़ेगी तो उसके लिए तैयार रहेंगे। ”

उन्होंने कहा, “वायुसेना ने सुरक्षित रेडियो संचालित बातचीत के लिए कदम उठाएँ हैं। अब पाकिस्तान हमारा संचार नहीं सुन सकेगा। वहीं, भारतीय वायुसेना तिब्बत क्षेत्र के पास चीन द्वारा सैन्य बुनियादी ढाँचे के घटनाक्रम पर नजर रख रही है। यह ज्यादा चिंता की बात नहीं है।”

राकेश कुमार ने कहा, “हम कम अंतराल में भी युद्ध लड़ने के लिए तैयार है। बड़गाम हादसा हमारी गलती का नतीजा था। जाँच में पता चला है कि एमआई-17 हेलिकॉप्टर हमारी ही मिसाइल से टकराया था। दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। “