समाचार
महाराष्ट्र में मुसलमानों को 5 प्रतिशत आरक्षण देने का विरोध करेगी भाजपा- फडणवीस

महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार द्वारा मुसलमानों को दिए जाने वाले 5 प्रतिशत आरक्षण का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विरोधी करेगी।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार (23 फरवरी) को कहा, “हम मुस्लिम या किसी भी आरक्षण का विरोध करते हैं, जो धर्म के आधार पर दिया जाता है।”

रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, “कोई भी आरक्षण जो संविधान के खिलाफ है, उसका विरोध करने की ज़रूरत है। मुस्लिम आरक्षण धर्म के आधार पर दिया जा रहा है। इस वजह से हम इसका विरोध कर रहे हैं क्योंकि यह संविधान विरोधी है। हम ऐसी किसी भी चीज़ का समर्थन नहीं करेंगे, जो संविधान विरोधी हो।”

गौर करने वाली बात यह है कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 15 में जाति, धर्म, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव निषेध है। वहीं, आर्टिकल 15 (4) राज्य को किसी भी सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्ग के नागरिकों या अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उत्थान के लिए विशेष प्रावधान करने में सक्षम बनाता है।

मुसलमानों के लिए विशेष आरक्षण की मांग बहुत समय से लंबित है और महाराष्ट्र सरकार ने मुसलमानों को पाँच प्रतिशत आरक्षण देने का वादा किया था। कांग्रेस नेता असलम शेख के मुताबिक, राज्य सरकार जल्द ही मुस्लिम आरक्षण को आम सहमति वाले न्यूनतम कार्यक्रम के तहत लाएगी।