समाचार
मध्य प्रदेश व बंगाल के बाद छत्तीसगढ़ में नहीं लागू हुआ मोटरवाहन संशोधन अधिनियम

छत्तीसगढ़ सरकार ने मोटरवाहन संशोधन अधिनियम-2019 को लागू करने से मना कर दिया है। पहले कहा गया था कि अधिनियम के अनुसार यहाँ नए प्रावधान लागू होंगे पर अब इस पर विचार के बाद कोई कदम उठाया जाएगा।

टीएनआईई  की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के विशेष पुलिस महानिदेशक (यातायात, योजना और प्रबंधन) आरके विज ने पहले घोषणा की थी कि मोटर वाहन संशोधन अधिनियम में कुछ धाराओं को छोड़कर बाकी 1 सितंबर से लागू होंगे।

हालाँकि, राज्य के परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने अब कहा, “नए कानून को लागू करने से पहले इसकी समीक्षा होगी। इसे कानून विभाग के पास समीक्षा के लिए भेजा जाएगा।”

मंत्री ने कहा, “कानून और विधायी मामलों के विभाग से व्यावहारिक और सामान्य मुद्दों पर रिपोर्ट हासिल करने के बाद यदि हुआ तो संशोधित मोटर वाहन अधिनियम की बड़े पैमाने पर समीक्षा की जाएगी। इसमें लोगों के हित को देखा जाएगा, जिसके बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा।”

इससे पूर्व, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल की सरकारों ने संशोधित मोटरवाहन कानून के कड़े दंडों के कारण इसे लागू करने से मना कर दिया था। पंजाब और राजस्थान जैसे अन्य राज्यों ने भी दंड में बढ़ोतरी को देखते हुए कानून की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई थी।