समाचार
कनाडा के अनुरोध के बाद भारत ने दी पाँच लाख कोविशील्ड की आपूर्ति की स्वीकृति

कोविड-19 महामारी के खिलाफ कनाडा की लड़ाई में सहायता करने और देश की आबादी का संक्रमण के खिलाफ टीकाकरण करने के लिए भारत ने फरवरी में कोविशील्ड वैक्सीन की पाँच लाख खुराक की सैद्धांतिक रूप से आपूर्ति की स्वीकृति दी है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन टूडो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वैक्सीन की आपूर्ति के लिए फोन करके अनुरोध किया था, जिसके कुछ दिनों बाद यह विकास आया है। उन्हें पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा निर्मित वैक्सीन की आपूर्ति की जा रही है।

इसके अलावा, भारत ने अपनी प्राथमिकता सूची में भूटान, नेपाल और बांग्लादेश के साथ मित्र देशों की सेनाओं को टीकों की आपूर्ति के लिए भी अपनी स्वीकृति दी है। रक्षा सहयोग को गहरा करने के संकेत के रूप में भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा आपूर्ति का नेतृत्व किया जाएगा।

यह गौर किया जाना चाहिए कि कोविशील्ड एसआईआई द्वारा निर्मित की जा रही है। इसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के सहयोग से ब्रिटिश फार्मास्युटिकल प्रमुख एस्ट्रोजेनका द्वारा विकसित किया गया है।

इस बीच, कोवैक्सीन को हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के सहयोग से स्वदेशी रूप से विकसित किया गया है।