समाचार
प्रधानमंत्री मोदी और डोनाल्ड ट्रंप ने साझा किए खुशी के पल, इमरान खान नाराज़

विशेष अतिथि के रूप में फ्रांस में चल रहे जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट कर दिया, “कश्मीर एक द्विपक्षीय मुद्दा है। इस वजह से भारत किसी अन्य देश को इस बाबत परेशान नहीं कर रहा है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कश्मीर पर बातचीत की पुष्टि की। उन्होंने कहा, “भारत के पास चीज़ें नियंत्रण में हैं।” इसके बाद दोनों नेताओं के एक खुशी के रिकॉर्ड किए गए पल को साझा किया गया। इसमें ट्रंप ने मज़ाक उड़ाया और प्रधानमंत्री मोदी ने उसका जवाब दिया था।

ट्रंप ने एक ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ हुई बैठक को शानदार बताया था। भारत और अमेरिका के बीच हुई इस सकारात्मक वार्ता ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को नाराज़ कर दिया है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान खान ने दावा किया कि अगर भारत-पाकिस्तान संघर्ष एक युद्ध की ओर बढ़ जाता है तो यह याद रखने की जरूरत है कि दोनों देश परमाणु हथियार से परिपूर्ण हैं। इस तरह उन्होंने कहा, “दुनिया की महाशक्तियों के पास पाकिस्तान (कश्मीर पर) का समर्थन करने की एक बड़ी ज़िम्मेदारी है, जो इस मुद्दे पर किसी भी हद तक जाने को तैयार है।”

हालाँकि, उन्होंने इस बात का भी श्रेय लिया कि जो कहा वह इस मुद्दे को अंतर-राष्ट्रीय स्तर पर ले जा रहा था। साथ ही उन्होंने दावा किया कि अगले महीने उनका संयुक्त राष्ट्र महासभा का संबोधन कश्मीर पर केंद्रित होगा। मालूम हो कि हाल ही में इमरान खान ने चीन का समर्थन पाकर संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे को लेकर अपील की थी लेकिन वहाँ किसी ने उनका पक्ष नहीं लिया था।