समाचार
श्याओमी की इंटरनेट सेवा बाज़ार पर नज़र? पेटीएम, अमेज़ॉन प्राइम को देगा चुनौती

भारत में स्मार्टफोन के मामले में सैमसंग को पछाड़ने के बाद सबसे बड़ी कंपनी के रूप में उभरी श्याओमी की नज़र अब नेटफ्लिक्स, अमेज़ॉन प्राइम, स्पॉटिफाई, पेटीएम और गूगल पे जैसी भुगतान आधारित इंटरनेट सेवा देने वाली कंपनियों के बाज़ार पर है।

द इकनॉमिक्स टाइम्स के अनुसार, चीनी कंपनी फिल्मों और वीडियो की स्ट्रीमिंग, संगीत, डिजिटल लेन-देन एप्लीकेशन के जरिए अपनी आमदनी बढ़ाना चाहती है। श्याओमी के प्रबंध निदेशक मनु कुमार जैन ने कहा, “कंपनी में निवेश किए 3500 करोड़ रुपये का एक अहम हिस्सा इस दिशा में भी खर्च होगा। दुनियभार में बेचे गए श्याओमी के हार्डवेयर और उपकरणों पर हमारा मुनाफा 1 प्रतिशत से कम रहा है। हमने पहले भी कहा था कि हम किसी हार्डवेयर पर 5 प्रतिशत से ज्यादा मुनाफा नहीं कमाएँगे।”

उन्होंने कहा, “हम इंटरनेट सेवाओं के जरिए पैसे बनाएँगे। श्याओमी वैश्विक स्तर पर डिवाइस, रिटेल और सर्विसेज़ से जुड़ी है। डिवाइस बनाना और बेचना आधा काम है। बाकी काम ग्राहकों को जोड़ना और उन्हें इंटरनेट सेवाएँ देना है।”

हाल ही में कंपनी ने एमआईपे नाम से एक यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) आधारित पेमेंट ऐप लॉन्च किया था। कंपनी भारत में जल्द एमआई क्रेडिट भी ला सकती है।

भारत में कंपनी के एमआई म्यूज़िक के पहले ही 4 करोड़ मासिक उपयोगकर्ता हैं लेकिन यह अभी मुफ्त है। हालाँकि, अब कंपनी ने एक भुगतान आधारित सब्सक्रिप्शन म्यूज़िक योजना की पेशकश की है।