समाचार
अयोध्या मामले में संघ की मदद के आरोप में रद्द किया गया केके मोहम्मद का सम्मान

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ओल्ड स्टूडेंट्स एसोसिएशन केरल (एमएमयूओएसएके) ने शनिवार को फारूक कॉलेज में आयोजित होने वाले सर सैयद डे समारोह में केके मुहम्मद को सम्मानित करने के अपने निर्णय को रद्द कर दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट के अनुसार, प्रसिद्ध पुरातत्वविद और पद्मश्री पुरस्कार विजेता को एएमयूओएसएके द्वारा सम्मानित किया जाना था। फारूक कॉलेज में होने वाले समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर राज्यपाल आरिफ मुहम्मद को आना था। हालाँकि, कुछ मुस्लिम छात्रों के संगठन के विरोध के बाद कॉलेज ने पूर्व छात्रों को सम्मानित करने की अपनी योजना रद्द कर दी।

छात्र संगठन केके मुहम्मद की हालिया टिप्पणी से नाखुश थे कि बाबरी मस्जिद के नीचे एक मंदिर था। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पूर्व महानिदेशक (डीजी) बीबी लाल के अनुसार, “मुहम्मद खुदाई स्थल पर एक टीम का हिस्सा थे, जिन्होंने मंदिर स्थल के नीचे अवशेषों की जाँच की थी।”

मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन (एमएसएफ), आईयूएमएल के छात्र संगठन और सुन्नी स्टूडेंट्स फेडरेशन (एसएसएफ) सहित मुस्लिम छात्रों के निकायों ने मुहम्मद पर संघ परिवार की मदद करने के लिए ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

आयोजन समिति ने कहा, “मुहम्मद को सम्मानित करने की योजना फिलहाल रद्द कर दी गई है क्योंकि उन्होंने खुद ही अपनी टिप्पणी पर आ रही प्रतिक्रियाओं के मद्देनजर यह इच्छा व्यक्त की थी।”