समाचार
कंगना रनौत पर कर्नाटक के बाद बांद्रा न्यायालय ने दिया मामला दर्ज करने का आदेश

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई की बांद्रा न्यायालय ने ट्वीट और साक्षात्कार के माध्यम से सांप्रदायिक नफरत फैलाने के आरोप में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। इससे पूर्व, उनके खिलाफ कर्नाटक में मामला दर्ज हो चुका है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, मुन्ना वराली और साहिल अशरफ सैयद नाम के याचिकाकर्ताओं ने न्यायालय में एक याचिका दायर की थी, जिसमें कंगना रनौत के ट्वीट को भड़काऊ बताते हुए उनके खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की गई थी।

याचिका में आरोप गया कि कंगना हिंदू और मुस्लिम कलाकारों के बीच खाई पैदा कर रही हैं। इस पर न्यायालय ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया, जिससे अभिनेत्री की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

बता दें कि 13 अक्टूबर को कर्नाटक पुलिस ने केंद्र सरकार की ओर से पारित कृषि कानूनों का विरोध करने वाले लोगों पर कंगना की टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ एक मामला दर्ज किया था। तुमकुरु पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था।

वकील रमश नायक ने हाल में ट्विटर संदेश में दिए गए कंगना के पोस्ट के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि इससे उनकी भावनाएँ आहत हुई हैं। इसके लिए अभिनेत्री के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

कंगना ने 21 सितंबर को अपने ट्वीट में कहा था कि जिन लोगों ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध किया था, वही लोग कृषि कानूनों का विरोध कर देश में आतंक का माहौल कायम करना चाहते हैं।