समाचार
जनवरी में सात साल के उच्चतम स्तर 55.5 तक पहुँच गई भारत की सेवा क्षेत्र गतिविधि

नए ऑर्डर मिलने और उत्पादन में वृद्धि के चलते भारत की सेवा क्षेत्र गतिविधि सात साल के अपने उच्चतम स्तर पर पहुँच गई है। यह जानकारी एक निजी सर्वेक्षण के जरिए दी गई है।

लाइव मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, आईएचएस मार्केट इंडिया सेवा व्यापार गतिविधि सूचकांक दिसंबर में 53.3 से बढ़कर जनवरी में 55.5 तक पहुँच गया है। यह सात वर्षों के उत्पादन में सबसे मज़बूत चढ़ाव का संकेत देता है। सर्वेक्षण के मुताबिक, बाज़ार की अनुकूल परिस्थितियों और बेहतर मांग की वजह से यह तेज़ी देखी गई है।

आईएचएस मार्केट में प्रधान अर्थशास्त्री पॉलियाना डि लीमा ने कहा, ”2019 के आखिर में टूटने की बजाय निर्माण की उम्मीदों को गति देते हुए 2020 की शुरुआत में भारत के सेवा क्षेत्र में जान आ गई है। इस अवधि में नए ऑर्डर मिलने की स्थिति भी सात साल के सबसे बेहतर स्तर पर है।”

उन्होंने आगे कहा, ”बिक्री में मज़बूत वृद्धि के चलते व्यवसायों की आय बढ़ी है और इससे पैदा हुई मांग को पूरा करने के लिए सेवा प्रदाताओं ने अपनी क्षमता भी बढ़ानी जारी रखी है।”

आईएचएस मार्केट सर्वेक्षण से पता चला है कि क्रय प्रबंधक सूचकाँक (पीएमआई) दिसंबर 2019 में 52.7 से बढ़कर जनवरी में 55.3 के आँकड़े पर पहुँच गया है। यह फरवरी 2012 के बाद से विनिर्माण गतिविधि में सबसे अधिक दर्ज किया गया है।

वहीं, कंपोजिट पीएमआई आउटपुट इंडेक्स, जो दिसंबर में विनिर्माण और सेवा क्षेत्र दोनों को बढ़ाता है, दिसंबर में 53.7 से बढ़कर सात साल के उच्च स्तर 56.3 पर पहुँच गया।