समाचार
अफगानिस्तान प्रत्यर्पण संधि के तहत भारत को सौंप सकता है 13 आईएस आतंकी

अफगानिस्तान प्रत्‍यर्पण संधि के तहत 13 आतंकवादी भारत को सौंप सकता है। ये वो आतंकी हैं, जिन्होंने पिछले कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान की राष्ट्रीय सेना के सामने आत्मसर्पण किया था। इनमें 600 से अधिक इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी थे।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, भारत और अफगानिस्तान ने पिछले रविवार (25 नवंबर) को अपनी द्विपक्षीय प्रत्यर्पण संधि के संचालन को औपचारिक रूप दिया था। काबुल के सूत्रों ने कहा, “प्रत्यर्पण संधि की औपचारिकता के बाद काबुल ने 13 आईएस आतंकवादियों के प्रत्यर्पण का फैसला किया है।”

सूत्रों ने आगे यह भी कहा, “आतंकवादियों को उचित प्रक्रिया के बाद भारत को सौंपा जाएगा। यह कदम दोनों देशों के बीच आतंकवाद-रोधी साझेदारी में महत्वपूर्ण और मील का पत्थर साबित होगा।”

अफगानिस्तान के एक अधिकारी ने बताया, “पिछले कुछ हफ्तों में अफगान सुरक्षा बलों के अलग-अलग अभियानों के बाद सैकड़ों इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया था।”

अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांतीय गवर्नर शाह महमूद मियांखली ने कहा, “पिछले दो सप्ताह में आईएसआईएस के 243 आतंकवादी और उनके परिवार के लगभग 400 सदस्य आत्मसमर्पण कर चुके हैं।” पिछले हफ्ते नंगरहार के अचिन जिले में सुरक्षा बलों के सामने 51 महिलाओं और 96 बच्चों के साथ 82 सेनानियों ने अपने हथियार सौंप दिए थे।

इससे पूर्व में भी महिलाओं और बच्चों सहित लगभग 300 आईएसआईएस सदस्यों ने नंगरहार में अफगान विशेष बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।