समाचार
अफगान सेना प्रमुख भारत दौरे पर एनएसए अजित डोभाल और एमएम नरवाने से मिलेंगे

अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के कदम के उपरांत बढ़ते तालिबान के आतंक को देखते हुए अगले सप्ताह देश के सेना प्रमुख जनरल वली मोहम्मद अहमदज़ई भारत आ रहे हैं। वह अपने समकक्ष मनोज मुकंद नरवाने और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से भेंट करेंगे।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान तालिबान से निपटने का तरीका अफगानिस्तान की सेना के जनरल को बताया जा सकता है। भेंट में दोनों देशों के बीच सैन्‍य सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा होगी। यह यात्रा तब हो रही है, जब अफगानी सेना अपने देश के कई जिलों पर नियंत्रण पाने के लिए जूझ रही है।

पुणे स्थित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में करीब 300 अफगानी कैडेट्स का प्रशिक्षण चल रहा है। जनरल वली मोहम्मद अहमदज़ई अपने कुछ कैडेट्स से भेंट कर सकते हैं। गृह युद्ध में घायल कई अफगान सैनिकों का उपचार भी भारत के कई अस्पतालों में चल रहा है।

अजित डोभाल के पास पाकिस्तान में काम करने का लंबा अनुभव है। वह तालिबान की गतिविधियों को भी अच्छे से जानते हैं। जनरल वली से भेंट के दौरान वह तालिबान से निपटने का उन्हें मंत्र भी दे सकते हैं। वैसे भी अफगानिस्‍तान में आतंकियों का दबदबा बढ़ना भारत की सुरक्षा के लिए खतरा है।

रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि अफगान सेना के जनरल भारत से सैन्य हार्डवेयर की आपूर्ति करने को कहेंगे, ताकि वे तालिबानी आतंकियों से मुकाबला कर सकें।