समाचार
कोविड 2.0 के कारण एडीबी ने भारत की वृद्धि का पूर्वानुमान 11% से घटाकर 10% किया

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने कोविड-19 के अधिक संक्रामक डेल्टा प्रकार के प्रभावों के कारण भारत और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के आर्थिक विकास के पूर्वानुमान को घटा दिया है।

मंगलवार (20 जुलाई) को जारी एक नई रिपोर्ट एशियन डेवलपमेंट आउटलुक सप्लीमेंटल में एडीबी ने हाल ही में आई कोविड-19 की लहर के प्रतिकूल प्रभाव की वजह से भारत की चालू वित्तीय वर्ष की वृद्धि को अप्रैल में अनुमानित 11 प्रतिशत से संशोधित करके 10 प्रतिशत कर दिया।

वहीं, 2021 की पहली तिमाही में विकासशील एशिया में आर्थिक विकास ने गति पकड़ी थी। हाल ही में कोविड-19 के नए प्रकार का प्रकोप कई अर्थव्यवस्थाओं के उबरने में एक बाधा का रूप ले रहा है।

संक्रमण की एक नई लहर के बाद उप-क्षेत्र में नए सिरे से लॉकडाउन के बाद दक्षिण पूर्व एशिया के लिए विकास अनुमान 4.4 प्रतिशत से घटाकर 4.0 प्रतिशत कर दिया गया। भारत और दक्षिण पूर्व एशिया आगामी वर्ष क्रमशः 7.5 प्रतिशत और 5.2 प्रतिशत बढ़ने के लिए तैयार हैं।

चीन के संबंध में एडीबी के पूरक ने कहा कि चीन के जनवादी गणराज्य में विस्तार अब भी 2021 में 8.1 प्रतिशत और 2022 में 5.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है। दरअसल, अनुकूल घरेलू और बाहरी रुझान अप्रैल के पूर्वानुमानों के अनुरूप हैं।