समाचार
अडानी समूह ने सऊदी में 12 क्रायोजेनिक टैंकर सुरक्षित किए, आईएएफ 6 लाएगी भारत

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) सोमवार (26 अप्रैल) को दुबई से उपयोग के लिए तैयार 12 क्रायोजेनिक टैंकरों में से 6 को भारत लाएगी। अडानी समूह ने भारतीय वायुसेना को उसकी सहायता के लिए ट्विटर पर धन्यवाद प्रेषित किया है।

अडानी समूह ने इन टैंकरों की खरीद की व्यवस्था की है, जिनका उपयोग तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) के परिवहन के लिए किया जाएगा।

80 मीट्रिक टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन से भरे चार आईएसओ क्रायोजेनिक टैंकों की पहली खेप सऊदी अरब के दम्माम से गुजरात के मुंद्रा में पहले ही आ चुकी है। सऊदी अरब के लिंडे से अडानी समूह 5,000 मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन सिलेंडर भी सुरक्षित कर रहा है।

समूह गुजरात में तेजी से वितरण के लिए अतिरिक्त ऑक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था कर रहा है। एक ट्विटर पोस्ट में अडानी ने बताया कि हर दिन उनका समूह गुजरात के कच्छ में जहाँ भी जरूरत होती है, मेडिकल ऑक्सीजन के साथ 1,500 सिलेंडरों की आपूर्ति कर रहा है।

कोविड-19 के बढ़ते मामलों से निपटने में देश की मदद करने की दिशा में अडानी समूह के प्रयासों के अलावा निजी क्षेत्र की बड़ी कंपनियों जैसे टाटा समूह, जेएसडब्ल्यू समूह, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड द्वारा योगदान दिया जा रहा है। साथ ही मदद की दिशा में इनके कई और भी प्रयास शामिल हैं।