समाचार
निकिता पर तौसीफ ने कई बार डाला था धर्मांतरण का दबाव, कांग्रेस विधायक का है संबंधी

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में बीकॉम छात्रा निकिता तोमर की दिनदहाड़े हत्या करने वाला आरोपी तौसीफ कांग्रेस विधायक का रिश्तेदार है। आरोपी के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं। उसके चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के मंत्री रहे हैं। नूंह से कांग्रेस विधायक आफताब अहमद उसके चचेरे भाई हैं।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, तौसीफ की उम्र 21 वर्ष बताई जा रही है और वह फिजियोथैरेपी की पढ़ाई कर रहा था। दूसरा आरोपी रेहान है, जो मेवात का रहने वाला है। दोनों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मृतका के परिवार का आरोप है कि आरोपी ने कई बार उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन कराने का दबाव डाला था।

निकिता के पिता ने बताया, “तौसीफ कई वर्षों से उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डालकर उससे शादी करने को कह रहा था। निकिता पढ़ाई में अच्छी थी इसलिए उससे बात करना पसंद नहीं करती थी। आरोपी की माँ पिछले दो वर्ष से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी।”

फरीदाबाद सांसद कृष्ण पाल सिंह गुर्जर ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। उन्होंने कहा, “पीड़ित परिवार को आश्वासन देते हैं कि हम उनके साथ हैं। हम उन्हें जल्द से जल्द न्याय दिलवाएँगे।”

क्राइम ब्रांच ने दोनों आरोपितों के पास से एक देसी तमंचा बरामद किया। दोनों को मंगलवार (27 अक्टूबर) को न्यायालय में पेश करके दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने हत्याकांड का स्वतः संज्ञान लेते हुए हरियाणा के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को पत्र लिखा। निकिता के भाई प्रवीण का कहना है कि हम चाहते हैं कि दोषियों को फांसी हो या उनका एनकाउंटर किया जाए।