समाचार
“पाकिस्तान का अफगानिस्तान को अपने संरक्षण में लेना असंभव है”- अमरुल्ला सालेह

अफगान सुरक्षाबलों और तालिबानी आतंकवादियों में चल रहे गृह युद्ध के मध्य अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने शुक्रवार (6 अगस्त) को बल देकर कहा कि युद्धग्रस्त देश को अपने संरक्षण में लेने का पाकिस्तान का प्रयास सफल नहीं होगा।

अमेरिकी सैनिकों की वापसी के साथ लंबे चलते युद्ध पर उन्होंने कहा, “हम इस पर नियंत्रण पा लेंगे। हम मजबूत और समझदार बनकर सामने आएँगे। हम अपने दुश्मनों, दोस्तों, आधे दोस्तों और नकली लोगों को भी जान पाएँगे। हम स्वतंत्रता पाकर ही बाहर आएँगे।”

अफगानिस्तान सरकार और अधिकारियों ने लंबे समय से पाकिस्तानी सेना और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई पर तालिबानी आतंकियों की सहायता और समर्थन करने का आरोप लगाया है।

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने एक ट्वीट में कहा, “एक अस्थिर पाकिस्तानी देश का हमें अपने संरक्षण में लेना बिल्कुल असंभव है। उलटफेर के क्षणों की उल्टी गिनती शुरू।”

अमरुल्ला सालेह, जिन्होंने 2004 से 2010 तक अफगान खुफिया एजेंसी राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस) का भी नेतृत्व किया था, पाकिस्तान और उसकी सुरक्षा एजेंसियों के अफगान मामलों में हस्तक्षेप के मुखर आलोचक हैं।

बता दें कि इससे पूर्व अमरुल्ला सालेह ने कहा था कि पाकिस्तानी सेना आतंकवादी संगठन तालिबान की निर्माता, रणनीतिक गुरु और निम्न रूपरेखा वाली आपूर्तिकर्ता है।

46 अफगान सैनिकों को वापस लौटाए जाने पर उन्होंने कहा था कि इस तरह के प्रचार कारनामों से अफगानिस्तान की नज़र में न तो ज़मीनी वास्तविकता में परिवर्तन होगा और न ही पाकिस्तान की छवि में सुधार होगा।