समाचार
केजरीवाल सरकार आईबी कांस्टेबल अंकित शर्मा के भाई को देगी नौकरी, प्रस्ताव स्वीकृत

पूर्वोत्तर दिल्ली के चांदबाग क्षेत्र में इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के 26 वर्षीय कांस्टेबल अंकित शर्मा की सीएए दंगों के दौरान जान चली गई थी। अब आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में शुक्रवार (26 मार्च) शाम हुई कैबिनेट की बैठक में अंकित के भाई को सरकारी नौकरी देने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी गई है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, आप की ओर से एक बयान में कहा गया कि अंकित शर्मा की हत्या पर अरविंद केजरीवाल बहुत दुखी थे। उन्होंने मृतक के परिवारजनों से मुलाकात करके एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी थी। इस दौरान उन्होंने परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया था।

बयान में कहा गया कि भाजपा ने आईबी कांस्टेबल की हत्या को बड़ा राजनीतिक मुद्दा बनाया लेकिन मदद करने के मामले में पीछे हट गए। केंद्र ने परिवार के किसी भी सदस्य को नौकरी देने से मना कर दिया था। अब केजरीवाल सरकार ने अंकित के भाई अंकुर शर्मा को नौकरी दी है।

बता दें कि आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के दंगों को भड़काने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। बाद में पूछताछ में उसने हिंसा उकसाने और हिंसा कराने की बात स्वीकारी थी। जाँच में पता चला था कि ताहिर ने भारी मात्रा में एसिड, पेट्रोल, डीजल और पत्थर अपने घर की छत पर जमा किए थे। उसने दंगे के लिए पुलिस स्टेशन से अपनी पिस्तौल भी ली थी।

इसके अतिरिक्त आप विधायक अमानतुल्लाह खान भी नागरिकता संसोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जामिया नगर में हुई हिंसा के मामले में आरोपी हैं। उन्होंने ताहिर हुसैन को बचाने के लिए मामले को धार्मिक रंग देना शुरू किया था।