समाचार
आप को हरियाणा और महाराष्ट्र चुनावों में 70 सीटों पर नोटा से भी कम वोट मिले

अरविंद केजरीवाल की अगुआई वाली आम आदमी पार्टी (आप) को हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों की 70 सीटों पर अपने प्रत्याशियों की करारी हार का सामना करना पड़ा। सबसे खास बात यह है कि सामूहिक रूप से जितने भी वोट आप पार्टी को मिले, उससे ज्यादा बार नोटा के पक्ष में मतदान हुआ।

हिंदू बिजनेसलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली स्थित पार्टी ने हरियाणा की 90 सीटों में से 46 में और महाराष्ट्र राज्य की कुल सीटों में से 24 पर अपने उम्मीदवार खड़े किए थे। हालाँकि, अधिकतर सीटों पर पार्टी के उम्मीदवारों ने 1,000 से कम वोट हासिल किए। यही नहीं, उनकी जमानत भी जब्त हो गई।

ध्यान देने वाली बात यह है कि हरियाणा में पार्टी को 0.48 प्रतिशत वोट हासिल हुए, जबकि नोटा के पक्ष में 0.53 प्रतिशत वोट पड़े। महाराष्ट्र में अरविंद केजरीवाल की पार्टी को 0.11 वोट हासिल हुए, जबकि नोटा को 1.37 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया।

चुनाव से पहले आप ने कहा था कि अन्य पार्टियों के नेतृत्व में महाराष्ट्र एक असफल राज्य में बदल गया है। चुनाव से पहले आप ने अपने प्रत्याशियों के जीतने पर महाराष्ट्र का कायाकल्प करने का वादा किया था।