समाचार
पंजाब में आम आदमी पार्टी की दुर्गति, केजरीवाल का पतन

पंजाब में 13 सीटों पर लड़ रही आम आदमी पार्टी (आप) खुद को हारता हुआ नहीं बल्कि बरबाद होता हुआ महसूस कर रही होगी। भगवंत मान के गढ़ संगरूर को छोड़कर, आप हर जगह ऐसी स्थिति में है जहाँ कोई वेंटिलेटर भी इसका उपचार नहीं कर पाएगा।

उनका मत प्रतिशत देखा जाए तो कुछ ऐसा है- अमृतसर में 1.96, आनंदपुर साहेब में 4.66 प्रतिशत, बठिंडा में 12 प्रतिशत, फरीदकोट में 10.9 प्रतिशत, फतेहगढ़ साहिब में 4.6, फिरोज़पुर में 2.42, गुरदासपुर में 1.34, होशियारपुर में 4.04, जलंधर में 2.69, खादूर साहिब में 1.02 प्रतिशत, लुधियाना में 1.44 प्रतिशत, पटियाला में 4.67 और संगरूर में यह 38 प्रतिशत से आगे चल रही है।

हाल ही की हुई घटनाओं को देखकर लगता है कि संगरूर से जीतने वाले भगवंत मान कितने लंबे समय तक पार्टी में रहेंगे। 2014 में पार्टी ने पटियाला, फतेहगढ़ साहिब और फरीदकोट 30 प्रतिशत से अधिक मतों से जीता था।