समाचार
चांदनी चौक में मंदिर बनने के बाद खुद को हनुमान भक्त बताने में जुटी आप व भाजपा

दिल्ली के चांदनी चौक में तोड़े जाने के बाद रातोंरात बनाए गए हनुमान मंदिर को लेकर सियासत तेज़ हो गई है। भाजपा और आप नेता मंदिर पहुँचकर खुद को सबसे बड़ा हनुमान भक्त बताने की कोशिश में जुटे गए हैं। आप के एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक शनिवार (20 फरवरी) को मंदिर पहुँचे और उन्होंने पूजा-अर्चना के बाद हनुमान चालीसा भी पढ़ी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, दुर्गेश पाठक ने कहा, “यह मंदिर बजरंग बली के भक्तों ने बनवाया है। मैं बजरंग बली का भक्त हूँ। मुझे बहुत तकनीकी चीजें नहीं पता हैं। बस, प्रभु की इच्छा थी इसलिए मंदिर बन गया। हम न्यायालय ने आग्रह करेंगे कि कोई बीच का हल निकालें क्योंकि यह बहुत पुराना मंदिर है और इससे लोगों की आस्था जुड़ी हुई है।”

इससे पूर्व, शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी मंदिर पहुँचे थे और उन्होंने खुद को बड़ा हनुमान भक्त बताया था। उन्होंने कहा था, “क्षेत्र के हजारों भक्तों की आस्था इस मंदिर से जुड़ी हुई है। अब फिर से लोग भगवान का आशीर्वाद लेने लगेंगे और हनुमान चालीसा का पाठ यहाँ भी शुरू होगा।”

बता दें कि चांदनी चौक के सौंदर्यीकरण योजना के तहत भाजपा और आप के बीच हनुमान मंदिर को लेकर विवाद खड़ा हो गया था। मामला दिल्ली उच्च न्यायालय चला गया, जहाँ आदेश पर प्रशासन ने हनुमान मंदिर गिरा दिया था। डेढ़ महीने बाद उसी जगह पर स्टील का एक अस्थायी मंदिर खड़ा कर दिया गया।

उत्तर दिल्ली नगर निगम के महापौर का दावा है कि इसे भक्तों ने तैयार करवाया है। क्षेत्र के सारे सीसीटीवी भी बंद कर दिए गए थे। इसको लेकर दिल्ली सरकार ने जाँच के लिए कहा है।