समाचार
छत्तीसगढ़ में बिजली कटौती का वीडियो शेयर करने पर युवक को राजद्रोह में जेल भेजा

बिजली कटौती से संबंधित एक वीडियो शेयर करने पर छत्तीसगढ़ में एक युवक को राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इस कार्रवाई पर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन और भाजपा ने विरोध जताया है।

ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला राजनांदगांव के मुसरा डोंगरगढ़ के रहने वाले मांगेलाल अग्रवाल का है। उन्हें बिजली कंपनी की शिकायत पर धारा 124ए के तहत गिरफ्तार किया गया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मामले पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा, “हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के पक्षधर हैं। मैंने पूरे मामले में डीजीपी से बात कर नाराजगी जाहिर की है। मामले में दूसरी धाराओं में कार्रवाई की जाएगी।”

हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सीके केसरवानी का कहना है, “राज सरकार का यह फैसला अलोकतांत्रिक है। उधर, भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, “बिजली गुल होने का दर्द अब लोग सोशल मीडिया पर शेयर भी नहीं कर सकते हैं। यह तो राज्य में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा किए जा रहे हैं।” कांग्रेस का आरोप है कि बिजली कटौती को लेकर भाजपा अफवाह फैला रही है।