समाचार
भूपेश बघेल ने लिया राहुल गांधी का पक्ष, कांग्रेस अध्यक्ष पद पर लौटने की जताई इच्छा
आईएएनएस - 11th October 2019

कांग्रेस में राहुल गांधी की स्थित को लेकर हो रही बहस में शामिल होते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नेहरू-गांधी परिवार के लोगों को पार्टी के सबसे कुशल नेता के रूप में वर्णित किया। वह चाहते हैं कि राहुल अपने पद पर वापस लौट आएँ।

भूपेश बघेल ने कहा, “लोकसभा चुनाव में हार के बावजूद पार्टी के भीतर राहुल के नेतृत्व को कभी चुनौती नहीं दी गई।” 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था। पार्टी को 543 सीटों में से महज 52 सीटें ही मिली थीं। उनके इस्तीफे के बाद सोनिया गांधी को पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

बघेल ने कहा, “राहुल गांधी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। यह अलग बात है कि जनता ने उन्हें स्वीकार नहीं किया। लोकसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद भी राहुल गांधी के नेतृत्व पर किसी ने सवाल नहीं उठाया। यहाँ तक कि इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी के नेतृत्व को चुनौती दी गई थी लेकिन राहुल गांधी के नेतृत्व को कभी चुनौती नहीं दी गई।”

राहुल का बचाव करते हुए बघेल ने कहा, “पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद हार को स्वीकार किया लेकिन भाजपा अपनी हार कभी स्वीकार नहीं करती है। उनकी टिप्पणी उस वक्त आई है जब कांग्रेस के शीर्ष पद से राहुल के बाहर होने पर पार्टी में सवाल उठाए जा रहे हैं।

पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने हाल ही में कहा था, “राहुल गांधी को पार्टी से दूर नहीं जाना चाहिए।” उन्होंने माना की पार्टी लोकसभा चुनाव में बुरी तरह हार के बाद संकट में थी। वहीं, पार्टी के एक अन्य नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पार्टी में आत्मनिरीक्षण के पक्षधर थे।