समाचार
8.5 किलोमीटर लंबी बनिहाल-काजीगुंड सुरंग के जून के अंत तक चालू होने की संभावना

270 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ 8.5 किलोमीटर लंबा बनिहाल-काजीगुंड सुरंग मार्ग परीक्षण और चालू करने की प्रक्रिया से गुज़र रहा है। सुरंग सर्दियों के दौरान यातायात सेवाओं के रूप में काम करेगी।

सुरंग के निर्माण में शामिल कंपनी नवयुग इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड (एनईसीएल) के अधिकारियों के अनुसार, अगले कुछ सप्ताहों में इसके चालू होने की संभावना है। एनईसीएल के मुख्य प्रबंधक मुनीब टाक ने पीटीआई-भाषा को बताया, “वायु संचार और विद्युत की व्यवस्था सहित सभी आवश्यक उपकरण लगाने के बाद हम परीक्षण चालू करने की प्रक्रिया में लगे हैं।”

एनईसीएल के सूत्रों ने कहा कि कुछ हफ्तों में चल रहे काम के पूरा होने की उम्मीद है। टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस माह के अंत तक सुरंग यातायात के लिए खोल दी जाएगी।

जम्मू में बनिहाल को दक्षिण कश्मीर में काजीगुंड से जोड़ने वाली रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण परियोजना जवाहर सुरंग और शैतान नाला के लिए उपमार्ग के रूप में काम करेगी, जो सर्दियों के दौरान भारी हिमपात और फिसलन की स्थिति के लिए बाधित रहता है।

इसके अतिरिक्त, नई सुरंग की ऊँचाई 1,790 मीटर (5,870 फीट) है, जो जवाहर सुरंग की ऊँचाई से 400 मीटर कम है। इससे नई सुरंग में हिमस्खलन की संभावना कम है। साथ ही नई सुरंग जम्मू के बनिहाल और दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड के बीच की दूरी को वर्तमान 35 किलोमीटर से 16 किलोमीटर कम कर देगी।