समाचार
जेवर हवाई अड्डा- 69 फर्मों को ₹2,300 करोड़ के निवेश व रोजगार के लिए भूमि आवंटित

कोविड-19 महामारी के कारण हुए व्यवधानों की वजह से उत्तर प्रदेश सरकार ने अप्रैल और जुलाई के बीच गौतमबुद्ध नगर जिले के जेवर में आगामी अंतर-राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास 69 फर्मों को औद्योगिक भूमि आवंटित की है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, 69 फर्मों को उत्पादन और विनिर्माण सुविधाएँ स्थापित करने के लिए कुल 146.5 एकड़ औद्योगिक भूमि आवंटित की गई। इसमें 86,000 से अधिक व्यक्तियों के लिए रोजगार सृजन के साथ 2,300 करोड़ रुपये के निवेश की संभावना है।

मई में नौ फर्मों को 37.5 एकड़ भूमि 1,285.58 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश के साथ आवंटित की गई थी। इसमें 5,996 नौकरियों के सृजन की उम्मीद थी। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के विशेष अधिकारी शैलेश भाटिया के अनुसार, जून में 16 फर्मों को 315.7 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश और 26,686 नौकरियों के प्रस्तावित सृजन के साथ 25.88 एकड़ भूमि आवंटित की गई थी।

इसके बाद जुलाई में गतिविधियों में और तेजी लाई गई। इस दौरान 44 फर्मों को 83.27 एकड़ भूमि 786.93 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश और 53,763 नौकरियों के संभावित सृजन के साथ आवंटित की गई।

नोएडा के सेक्टर 29, 32 और 33 में 69 फर्मों को भूमि आवंटित की गई है। यह गौर किया जाना चाहिए कि सेक्टर 29 को एक वस्त्र पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है, जहाँ भविष्य में रेडीमेड कपड़ों की डीलिंग कई फर्में करेंगी।