समाचार
5जी परीक्षण हेतु डॉट को मिले 12 प्रस्ताव, वित्तीय वर्ष 2019-20 के अंतिम मे शुरू होंगे

भारत में पाँचवी पीढ़ी (5जी) की मोबाइल प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने की दिशा में एक बड़ी खबर सामने आई है। इकॉनमिक टाइम्स  के अनुसार वर्तमान वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही में देश में 5जी परीक्षण शुरू होने वाला है।

दूरसंचार विभाग (डॉट) को अब तक 5जी परीक्षण के संचालन हेतु कुल 12 आवेदन प्राप्त हुए हैं और इसमें चीनी दूरसंचार दिग्गज हुआवे भी शामिल है। प्राप्त हुए 12 आवेदनों में से किसी को भी अभी तक अनुमोदित या अस्वीकार नहीं किया गया है।

“5जी परीक्षण वर्तमान वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही में शुरू होगा।”, दूरसंचार विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा।

चीनी दूरसंचार उपकरण निर्माता हुआवे की भागीदारी के बारे में सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है। हालाँकि, अधिकारियों ने सुझाव दिया है कि 5जी परीक्षणों के लिए स्वीकृति देते समय राष्ट्रीय सुरक्षा एक प्रमुख ध्यान का विषय रहेगा।

एक दूसरे अधिकारी ने कहा कि 5जी पर किसी भी प्रस्ताव को दो विषयों पर ध्यान देना चाहिए। पहला नई प्रौद्योगिकी को अपनाना और दूसरा राष्ट्रीय सुरक्षा की अनिवार्यता।

अधिकारी ने आगे कहा कि 5जी नीलामी मार्च-अप्रैल 2020 तक होने की संभावना है और इसको सामान्य स्पेक्ट्रम की नीलामी से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।

रिपोर्ट के अनुसार 5जी प्रौद्योगिकी अभी भी पूरी तरह से विकसित नहीं हुई है और वैश्विक दूरसंचार कंपनियाँ पारिस्थितिकी तंत्र का मूल्यांकन कर रहीं है और 5जी को उपयोग हेतु तैयार करने की कोशिश कर रहीं हैं।