समाचार
योगी का श्मशान हादसे के बाद विषाक्त मदिरा से मौत के मामले में भी रासुका का आदेश

उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के सिकंदराबाद जिले के जीतगढ़ी गाँव में विषाक्त मदिरा पीने से 5 लोगों की मौत हो गई, जबकि 7 लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले के दोषियों पर रासुका (एनएसए) लगाने का आदेश दिया है। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री गाजियाबाद की मुरादनगर श्मशान दुर्घटना के लिए जिम्मेदार इंजीनियर और ठेकेदार के खिलाफ रासुका लगाने का आदेश दे चुके हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बताया, “16 लोगों का डायलिसिस किया जा रहा है। इन सभी ने गाँव में बिक रही विषाक्त मदिरा पी थी। मामले में चौकी प्रभारी सहित तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले का संज्ञान लेते हुए तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर जाकर हर पीड़ित के बेहतर उपचार के लिए कहा है। साथ ही दोषी मद्यशाला के खिलाफ भी कठोरतम कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

कहा जा रहा है कि अब तक मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस और प्रशासनिक टीम गाँव पहुँच गई है और मामले की जाँच में जुट गई है। अभी शराब बेचने वाला गिरफ्त से बाहर है।

बता दें कि गाजियाबाद के श्मशान हादसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे नुकसान की वसूली दोषी इंजीनियर और ठेकेदार से करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद ठेकेदार को काली सूची में डाल दिया गया। उन्होंने मृतक के परिवारों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और आवासीय सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिए थे।