समाचार
मॉस्को में यात्री विमान बदला आग के गोले में, 41 लोगों की मौत

मॉस्को हवाई अड्डे पर इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान एक यात्री विमान में आग लगने से 41 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में दो बच्चे भी शामिल हैं। कई यात्री विमान की इमरजेंसी स्लाइट्स के माध्यम से बाहर निकाले गए।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सुखोई सुपरजैट 100 ने रूस के मॉस्को एयरपोर्ट से उत्तरी रूस के मरमांस्क शहर के लिए उड़ान भरी थी। इसमें 73 यात्रियों सहित पाँच क्रू के सदस्य शामिल थे।

सोशल मीडिया पर शेयर हुए इस दुर्घटना के वीडियो में नजर आ रहा है कि विमान आग की लपटों से घिरा हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि विमान केवल दो साल पुराना था। हादसे के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

दुर्घटना की जाँच कर रही टीम के प्रवक्ता स्वेतलाना पेट्रेन्को ने कहा, “विमान में मौजूद 78 लोगों में से केवल 37 को ही बचाया जा सका है। इस तरह 41 लोगों की हादसे में मौत हो गई।”

कहा जा रहा है कि उड़ान भरते ही विमान में धुआँ उठने लगा था। इस पर पायलट ने विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई। लैंडिंग के दौरान विमान आग के गोले में बदल गया था।